केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्‍ला ने आज कोवि‍ड-19 की वर्तमान स्थिति और मध्‍य प्रदेश सरकार द्वारा स्‍वास्‍थ्‍य किए गए उपायों की समीक्षा के लिए एक उच्‍च स्‍तरीय बैठक की। पिछले दो सप्‍ताह के भीतर राज्‍य में कोरोना संक्रमण के नए मामलों में साप्‍ताहिक लगभग 79 प्रतिशत वृद्धि हुई है। मध्‍य प्रदेश में संक्रमण के नए मामलों में 13 दशमलव चार प्रतिशत की साप्‍ताहिक वृद्धि हुई है।



बैठक में बताया गया कि प्रदेश के 44 जिलों में पिछले तीस दिनों में संक्रमण के सबसे अधिक मामले दर्ज किए गए हैं। बैठक में बताया गया कि भोपाल, इंदौर, ग्‍वालियर और खंडवा जिले सबसे अधिक प्रभावित हैं। बैठक में एन-95 मास्‍क, पीपीई किट्स, एचसीक्‍यू टेबलेट और वेंटीलेटर की उपलब्‍धता तथा ऑक्‍सीजन की जरूरतों से संबंधित मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया।

बैठक में राज्य सरकार को भीड़-भाड और अनावश्‍यक आवाजाही तथा सामाजिक जमावड़े पर रोक लगाए जाने की सलाह दी गई। बैठक के दौरान केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य सचिव ने रेलवे, श्रम, स्‍टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड- सेल और कोल इंडिया लिमिटेड जैसी केन्‍द्रीय विभागों और प्रतिष्ठानों के अस्‍पतालों को कोरोना मरीजों के इलाज के लिए इस्‍तेमाल करने की सम्‍भावनाओं पर भी विचार किया गया।

केंद्रीय गृह सचिव ने सुझाव दिया कि महामारी से लड़ने के लिए स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार एमबीबीएस पाठ्यक्रम के अंतिम वर्ष के छात्रों, नर्सों और इंटर तथा जूनियर रेजिडेंट डॉक्‍टरों को भी इस काम में लगाया जा सकता है

Post a Comment

और नया पुराने